#bholenath

किसके प्रकोप से भगवान शिव भी भयभीत हुए थे?

भोलेनाथ भोलेनाथ जो की नथो के नाथ है, उन्हें भोलेनाथ इसलिए कहा जाता है क्युकी वह कभी भी किसी भी मे भेद- भाव नहीं करते है चाहे फिर वो मनुष्य हो, देवता हो, या फिर असुर हो| भोलेनाथ जो की भगवान शिव है वह बड़ी ही आसानी से अपने भक्त के हो जाते है और अपनी पूरी कृपा दिखते है अगर कोई भक्त उन्हें सच्चे मन और पूरी श्रद्धा के साथ पूजता व मानता है तो| मनचाहा वरदान सिर्फ यह ही एक वजह नहीं है की भक्त सिर्फ शिव को प्रसन्न करने के लिए या सत्य और सच्चाई की रक्षा के लिए ही शिव की पूजा व् भक्ति करते है कभी – कभी भक्तजन भगवन शिव की भक्ति गलत मनोव्यक्ति से भी करते है और भगवान शिव जो की भक्तो की कड़ी तपस्या से प्रस्सन होकर अपने भक्तो को मनचाहा वरदान देने का खामियाजा खुद भगवान शिव ने भी भुक्ता है| भस्मासुर जैसे कथित ग्रन्थ के अनुसार भस्मासुर नाम का एक राक्षक जो की दुनिया का सबसे ताकतवर दानव व् राक्षक बन पृथ्वी पर सभी लोगो पर शासन व् अपना […]